ENGLISH VERSION
मुख्य पृष्ठ वर्णन जानें अपना नियोक्ता कर्मचारी पेंशनभोगी गतिविधियाँ योजनाएं सूचना का अधिकार कर्मचारी अनुभाग
Merger of UANs   ★   Payment of contribution by employers by 15th of the following month - Removing of the grace period of 5 days.   ★   Submission of Form-11 (New) and seeding of KYC details in UAN Portal.   |   Mandatory Deposit of Contribution through Internet Banking   |   Activate your UAN based registration.   |   Inoperative A/c Helpdesk System (Beta Version)   |   नियोक्ता कृपया ध्यान देवें: नियोक्ताओं के लिए एकाधिक लॉग-इन-सुविधा का प्रावधान   |   Letter to Employers regarding Allotment of Universal Account Number to every contributing member registered on ECR portal and subsequent seeding of KYCs   |   नियोक्ता कृपया ध्यान देवें: - कृपया आप अपने प्राधिकृत अधिकारी का अद्यतन नमूना हस्ताक्षर तत्काल प्रस्तुत करने की कृपा करें। आपसे यह अनुरोध है कि आपके द्वारा नमूना हस्ताक्षर प्रतिवर्ष प्रस्तुत करना आवश्यक है, क्योंकि यह केवल एक वर्ष के लिए ही वैध है। यद्यपि इसमें कोई भी बदलाव न हो तब भी इसका अद्यतन व नया संस्करण प्रतिवर्ष भेजते रहना आवश्यक है।   |   Online e-return format for the PF-exempted/relaxed establishment have to be compulsorily file the e-return from 01-04-2014 and thereafter at regular monthly intervals at Employer e-Sewa Portals   |   नियोक्ता ध्यान दें - अब डिमांड ड्राफ्ट और चालान कृपया भारतीय स्टेट बैंक में केवल काउंटरों पर |   |   ईसीआर फ़ाइल प्रारूप डाउनलोड करें
क.भ.नि. योजना, 1952 के अंतर्गत अपने सभी कर्मचारियों को यूनिवर्सल खाता संख्या (यू.ए.न.) उपलब्ध कराने एवं कर्मचारियों के 100 प्रतिशत के.वाई.सी. की सूचना उपलब्ध कराने पर नियोक्ताओं के लिए प्रोत्साहन प्रतिदाय योजना की अधिसूचना |   |   दिनांक 01.01.2015 से संशोधित प्रशासनिक शुल्क प्रभाव   |   प्रतिष्ठान के नियोक्ताओं द्वारा (www.epfindia.gov.in पर) ऑनलाइन माध्यम से ईसीआर / चालान जमा करने हेतु) ऑनलाइन फॉर्म- 5 ए भरना अनिवार्य है |   |   Online Payment Facility for Employers ----- Process Flow for Online Payment Facility for Employers, click here to download.   |   कृपया दावों को प्रमाणित करने तथा भेजने से पूर्व यह सुनिश्चित कर लें कि इसमें सभी जानकारियाँ पूर्ण रूप से भरी गई है तथा इसमें सभी आवश्यक कागजात व दस्तावेज़ संलग्न है।   |   नियोक्ता कृपया ध्यान दें: ईसीआर / चालान को ऑनलाइन जमा कराना अनिवार्य है | यदि आपने अपने प्रतिष्ठान को, ईसीआर / चालान ऑनलाइन जमा करने के लिए पंजीकृत नहीं कराया है, तो कृपया यहाँ   पर क्लिक करके तुरंत पंजीकृत करायें.   |   कृपया ध्यान दें !! नवीनतम निर्देश के अनुसार प्रत्येक नियोक्ता को हर साल अपने संबंधित क. भ. नि. सं. कार्यालय में अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता / हस्ताक्षरकर्ताओं के 'हस्ताक्षर' जमा करना होगा | यदि पिछले वर्ष के दौरान अधिकृत हस्ताक्षरकर्ता के नाम में कोई परिवर्तन नही हुआ है तब भी हर साल नवीनतम / ताजा हस्ताक्षर जमा करना अनिवार्य है |
डिजिटल हस्ताक्षर के पंजीकरण के लिए ऑनलाइन हस्तांतरण दावा
स्थापनाओं का ऑनलाइन पंजीकरण (ओ एल आर ई पोर्टल)
क.भ.नि.सं.
UAN Services
निधि आपके निकट
हमारा वर्णन
जानें अपना
नियोक्ता
पेंशनभोगी
कर्मचारी
हमारी गतिविधियाँ
योजनाएं
सूचना का अधिकार
कर्मचारी अनुभाग
डाउनलोड हेतु / सॉफ्टवेयर
निविदाएं
आँकड़े
वार्षिक आख्यायें
तस्वीरें
समाचार और घटनाएँ
हमसे संपर्क करें
संबधित साइट
अस्वीकृति
शिकायतें
 

.: प्रदत्त लाभों को कैसे प्राप्त करें :.

कर्मचारी भविष्य निधि की सदस्यता कैसे प्राप्त की जा सकती है।

आप अपने चाहने पर कर्मचारी भविष्य निधि की सदस्यता प्राप्त नहीं कर सकते है। आपको कर्मचारी भविष्य निधि की सदस्यता तभी प्राप्त होगी जब आप उस संस्थान में कार्य करेंगें जो संस्थान कर्मचारी भविष्य निधि तथा विविध उपबंध अधिनियम 1952 के अंतर्गत आवृत हो।

  • यदि संस्थान में 20 या उससे अधिक कर्मचारी कार्यरत हो तो कर्मचारी भविष्य निधि संगठन उस संस्थान को आवृत करेगा।
  • यदि किसी संस्थान के नियोक्ता तथा कर्मचारी आपसी सहमति व स्वेच्छा से चाहें तो उस संस्थान को स्वैच्छिक आवृत्ति प्रदान कर कर्मचारी भविष्य निधि संगठन उसे आवृत कर सकते है।
  • यदि आपका संस्थान आवृत नहीं है तथा उस संस्थान में कम-से-कम 20 कर्मचारी कार्यरत हो तो आप कर्मचारी भविष्य निधि संगठन में संपर्क स्थापित करें ताकि संस्थान को आवृत किया जा सके।
कर्मचारी भविष्य निधि से कैसे अपनी राशि को प्राप्त कर सकते है:
आप कर्मचारी भविष्य निधि से तभी अपनी राशि प्राप्त कर सकते है जब आप:
  • या तो संस्थान से सेवा चुके हो या फिर सेवानिवृत हो चुके हो और आपने निस्तारण हेतु प्रपत्र -19 के माध्यम से आवेदन कर सकते है।
  • या कुछ निर्धारित आवश्यकताओं के लिए अग्रिम हेतु आवेदन कर सकते है।
पेंशन कैसे प्राप्त करें
आप कर्मचारी पेंशन निधि से तभी पेंशन प्राप्त कर सकते है:
  • यदि आपने 50 या इससे अधिक की उम्र प्राप्त कर ली हो और
  • यदि आपने 10 वर्ष या से अधिक की सेवा अवधि पूर्ण कर ली हो और
  • यदि आप कर्मचारी पेंशन योजना के अंतर्गत कोई अतिरिक्त पेंशन न प्राप्त कर रहे हो।
तब आप आपने नियोक्ता के माध्यम से जहाँ आपने अंतिम बार काम किया तह प्रपत्र 10-घ (Form-10D) के माध्यम से कर्मचारी भविष्य निधि कार्यालय में आवेदन कर सकते है। at the EPF Office where you last worked through your last employer. यदि आप किसी अन्य स्थान (राज्य व शहर) से उक्त पेंशन को प्राप्त करना चाहते है तो आप आपने आवेदन पत्र में उचित बैंक/संस्था का पता भरना पड़ेगा। आपकी इच्छानुसार दिए गए पते के अनुसार आपका पेंशन उस निकटतम भविष्य निधि कार्यालय को स्थानांतरित किया जाएगा जिसके क्षेत्राधिकार में वह बैंक अथवा संस्था आता है। कर्मचारी भविष्य निधि पेंशन जानने के लिए क्लिक करें
पेंशन हेतु पात्रता : - निम्न अवस्थाओं में कोई व्यक्ति पेंशन प्राप्त करने का पात्र होता है:
चार स्थितियों में आप पेंशन प्राप्त करने हेतु आवेदन कर सकते है:
1. वृद्धावस्था में
  • 58 वर्ष या उससे अधिक तथा
  • कम-से-कम दस वर्ष की सेवा
58 वर्ष की उम्र प्राप्त कर लेने के बाद भी कोई व्यक्ति सेवा में रहते हुए पेंशन प्राप्त कर सकता है। इसके उपरांत उसकी ईपीएस सदस्यता स्वतः ही समाप्त हो जाएगी तथा वह केवल भविष्य निधि योजना का सदस्य बना रहेगा।
2. वृद्धावस्था से पूर्व
  • 50 से 58 वर्ष के बीच की उम्र में
  • कम-से-कम दस वर्ष की सेवा
सदस्य सेवा में नहीं होना चाहिए ।
3. सदस्य की मृत्यु होने पर सेवा में रहते हुए मृत्यु या सेवा में नहीं रहते हुए मृत्यु होने पर ।
4. स्थायी विकलांगता सदस्य को उस कार्य को करने में पूर्ण व स्थायी रूप से असक्षम बना दे जो वह नियोजन के दौरान करता था।

कोई भी पेंशनर एक से अधिक ईपीएफ़ पेंशन नहीं प्राप्त कर सकता है।

भविष्य निधि खाते से भुगतान कैसे प्राप्त किया जा सकता है:
आपको आपने भविष्य निधि की राशि प्राप्त करने के लिए आपको आपने संस्थान से त्यागपत्र या सेवानिवृत होना पड़ेगा तथा प्रपत्र -19 के माध्यम से आवेदन करना पड़ेगा। यदि आप 55 वर्ष की आयु प्राप्त करने के पहले संस्थान छोड़ चुके है तथा छोड़ने की तारीख से 2 माह तक किसी आवृत संस्थान में नौकरी नहीं प्राप्त किया हो तो आप भविष्य निधि प्राप्त करने हेतु प्रपत्र -19 में आवेदन कर सकते है। यदि सदस्य की मृत्यु हो गई हो, तो उनके परिवार के सदस्यों या नामित व्यक्ति प्रपत्र 20 के माध्यम से भविष्य निधि को प्राप्त करने हेतु आवेदन कर सकते है (सेवा के दौरान सदस्य की मृत्यु होने पर प्रपत्र 10 घ तथा प्रपत्र – 5 आई एफ़ के माध्यम से क्रमश: पेंशन तथा बीमा को प्राप्त करने हेतु आवेदन कर सकते है)।

अपने भ॰ नि॰ खाते का स्थानांतरण कैसे कर सकते है/यदि मैं किसी अन्य संस्थान में नौकरी प्राप्त करता हूँ तो मुझे क्या करना चाहिए ?
आपको अपने नये नियोक्ता के माध्यम से प्रपत्र – 13 में (जिसमें स्पष्ट रूप से नये तथा पुराने भविष्य निधि खाते का उल्लेख करें) आवेदन करना उस कर्मचारी भविष्य निधि कार्यालय में करना होगा जहाँ से आप अपने खाते को स्थानांतरित करवाना चाहते है। आपको अपने नये नियोक्ता द्वारा नया भविष्य निधि खाता संख्या प्राप्त करना होगा। नया भविष्य निधि खाता संख्या आपके नये नियोक्ता द्वारा ही जारी किया जाएगा न की कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा।

कर्मचारी बीमा जमा-सह-निक्षेप योजना
सदस्य की मृत्यु हो जाने पर, परिवार के सदस्य या नामित व्यक्ति/व्यक्तियों को (जो भविष्य निधि पाने के हकदार हो) कर्मचारी बीमा जमा-सह-निक्षेप योजना का लाभ पाने हेतु दावा कर सकते है। अधिकतम 60000 /- की राशि देय है। इस सुविधा की प्राप्ति हेतु सदस्य के भविष्य निधि खाते में न्यूनतम (रू 1000/-) होने चाहिए। नामित दावेदार/दावेदारों को नियोक्ता के माध्यम से प्रपत्र –5 आई॰एफ़॰ में आवेदन करना होगा। इस सुविधा के लिए सदस्य से किसी भी प्रकार की कोई राशि नहीं ली जाती है। इसमें देय राशि की गणना हेतु नियोक्ता द्वारा दिया गया अंशदान, औसत भविष्य निधि शेष, सदस्य का वेतन तथा सदस्य द्वारा की गई सेवाकाल की अवधि मुख्य कारक होते है।

 

 

 

 

भविष्य निधि भवन, सर्वोदय नगर, कानपुर - 208 005, उत्तर प्रदेश, भारत   •    दूरभाष संख्या : 0512-2217464,   •   फैक्स : 0512-2295307            ई-मेल: ro.kanpur@epfindia.gov.in

सभी अधिकार क. भ. नि. सं. के लिए आरक्षित, कानपुर |    Site developed by Mavenheads